Saturday, 23 January 2021

All Contractual Karamchari Sangh, Campaigned in the CTU Workers Union Elections

By 121 News

Chandigarh Jan. 23, 2021:- The All Contractual Karamchari Sangh appealed to all Outsourcing Workers to caste vote in favour of "Rail Engine Panel"  to mark victory. The Karamchari sangh requested and convinced the Panel to support and fulfilment of the demands of the outsourcing workmen of the various sections working in the CTU after their success and victory in Elections.

In consultation with the Rail Engine Panel of the of CTU, these demands were agreed such as to ensure the Regularization of employees under the Punjab policy, to reinstate data entry operators through SPIC agency, earning weekly rest , Outsourcing workers  to get annual 15 holidays under the provision of GeM portal system, equal work equal pay, increase in DC rate for  the year 20-21 ,registration of SPIC agency in GeM portal,  to engage through CTU society, Outsourcing workers to get uniform, salary, EPF and ESI facility on time etc. 

Bipin Sher Singh, Chairman, All Contractual Karamchari Sangh Employee, Chairman, Ashok Kumar, President, Gurcharan Singh, Publicity Secretary and Gurpreet Singh, Cashier appealed to all the outsourcing workers of CTU to vote conscientiously  to make their just and constitutional demands in  tomorrow election for the support made on these demands by contesting candidates Dharmendra Singh Rahi, Charanjit Singh Dhindsa, Satinder Singh, Tejbir Singh etc. from "Rail Engine Panel" for their fulfillment after their victory in elections.

College Sthapana Diwas Celebrated at GGSCW-26

By 121 News

Chandigarh Jan. 23, 2021:- The campus of Guru Gobind Singh College for Women, Sector 26, Chandigarh resounded with a melodious rendition of Gurbani Kirtan as the students and staff celebrated the College Sthapana Diwas on January 23, 2021. The event marked the commemoration of the birth anniversary of Sri Guru Gobind Singh Ji. On the occasion, the Bhog of Sehaj Paath, which commenced at the beginning of the session 2020-2021, was conducted. Gurmat Vichar on the life of Sri Guru Gobind Singh Ji was delivered by Bhai Rajinder Singh Ji of Gurdwara Shri Dhanna Bhagat, Mohali. The Kirtan was performed by Bhai Lakhwinder Singh Ji (Chandigarh wale).

S. Gurdev Singh (I.A.S. Retd.) President, S.E.S, S. Col.(Retd.) J.S. Bala, Secretary, S.E.S. and S. Karandeep Singh Cheema Joint Secretary, S.E.S. graced the occasion and appreciated the efforts of Principal, Dr. Jatinder Kaur, and incharges of Gurmat Vichar Sabha of the College, Mrs. Sukhmeen Kaur and Dr. Surinder Kaur for successfully organizing the function and following strict safety measures during the COVID-19 pandemic.

The programme culminated with Guru ka Langar.

एमकेयर हॉस्पिटल में 15 फ्रंटलाइन स्टॉफ को कोरोना वैक्सीनेशन दी गई

By 121 News

Chandigarh Jan. 23, 2021:- शनिवार को कोरोना वैक्सीनेशन अभियान के शुभारंभ पर एमकेयर हॉस्पिटल, जीरकपुर में डॉक्टरों, नर्सों और पैरामेडिकल स्टाफ  सहित 15 फ्रंट लाइन स्टॉफ  को कोरोना वैक्सीन दी गई।

क्रिटिकल केयर के प्रभारी डॉ रचित दुग्गल ने कहा कि बारी आने पर अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीनेशन करने की आवश्यकता है ताकि कोविड को रोका जा सके। बिना किसी भय, आशंका के अपना वैक्सीनेशन कराने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि बारी आने पर हम सबको टीका लगाने की आवश्यकता है ताकि हम इस घातक वायरस को हरा कर सकें

वैक्सीनेशन के बाद अपने अनुभव को साझा करते हुए रेडियोलॉजी तकनीशियन, अल्का चौधरी ने बताया कि उन्हें किसी प्रकार की कोई परेशानी महसूस नहीं हुई। उन्हें बहुत अच्छा लग रहा है और वो सुरक्षित महसूस कर रही हूँ।

पिस्ते में मौजूद महत्वपूर्ण पोषक-तत्वों से बढ़ाएं अपनी इम्युनिटी

By 121 News

Chandigarh Jan. 23, 2021:- अमेरिकन पिस्ताचियोस ग्रोअर्स (एपीजी) ने पिस्ते के इम्युनिटी बढ़ाने वाले गुणों पर बात करने के लिये एक वर्चुअल नॉलेज सेशन का आयोजन किया और ल्युक कोउटिन्हो को भारत में अपना लाइफस्टाइल एम्बेसेडर बनाने की घोषणा भी की । इस सेशन को ल्युक कोउटिन्हो, विश्व के जाने-माने हॉलिस्टिक लाइफस्टाइल कोच- इंटीग्रेटिव मेडिसिन और माइक रोउसेल, पीएचडी, न्यूट्रीशन कंसल्टेन्ट और मेन्स हेल्थ मैगजीन, यूनाइटेड स्टेट्स के सलाहकार ने सम्बोधित किया। इस सेशन के अध्यक्ष थे रॉन वर्डोंक, मिनिस्टर काउंसलर फॉर एग्रीकल्चर, यू.एस. एम्बेसी, भारत और इसका संचालन एपीजी के भारत प्रतिनिधि सुमित सरन ने किया।

सेशन का उद्घाटन करते हुए रॉन वर्डोंक, मिनिस्टर काउंसलर फॉर एग्रीकल्चर, यू.एस. एम्बेसी, नई दिल्ली, ने कहा कि उन्हें   इस बात की खुशी है कि ल्युक कोउटिन्हो, जो एक आइकॉन हैं और खासतौर से पोषण, फिटनेस और समग्र लाइफस्टाइल के लिये अपनी प्रतिबद्धता को लेकर जाने जाते हैं, वे अमेरिका के पिस्ते की अनुशंसा कर रहे हैं। भारतीय फूड सेक्टर भारी वृद्धि करने के लिए तैयार है और हम भारतीय उपभोक्ताओं को यू.एस. के उच्च-गुणवत्ता वाले, स्वास्थ्यकर, संपूर्ण और सुरक्षित उत्पाद परोसने के अवसर लगातार तलाश रहे हैं। पिस्ता भारतीय बाजार में स्वाभाविक रूप से फिट बैठता है। हम अमेरिका के कृषि उत्पादों की गुणवत्ता और महत्व पर मजबूत विश्वास रखते हैं, क्योंकि वे भारतीय बाजार की मांगों के अनुसार गुणवत्ता का कठोर अनुपालन करते हैं। भारत और अमेरिका, दोनों एक्सयरसाइज और डाइट के माध्यम से स्वस्थ जीवनशैली को प्रोत्साहित करने की जरूरत को बखूबी समझते हैं, ताकि कुपोषण और सार्वजनिक स्वास्थ्य की अन्य समस्याओं से निपटा जा सके। हम भारत में अमेरिका में उगाये गये पिस्ते के लिये साल 2021 को शानदार बनाने की उम्मीद करते हैं, क्योंकि हम अपने खाद्य एवं पेय की संस्कृतियों को पूरक बनाने के नये तरीके ढूंढेंगे।

अमेरिका में उगे पिस्ते के लाइफस्टाइल एम्बेसेडर के तौर पर अपनी भूमिका के बारे में ल्युक कोउटिन्हो ने कहा कि वो अमेरिकन पिस्ताचियो ग्रोअर्स के साथ जुड़कर बहुत खुश हैं। भारतीयों ने पिस्ते का इस्तेमाल हमेशा डेजर्ट्स, बिरयानी, आदि की सजावट के तौर पर किया है। अब समय आ गया है कि हम इस बेहतरीन मेवे पर ज्यादा जागरूक हों और अमेरिका में उगे पिस्ते को अपनी रोजाना डाइट का हिस्सा बनाएं। क्योंकि पिस्ता एक संपूर्ण प्रोटीन हैं और लोग यह जानकर चौंक जाएंगे कि एक मुट्ठी पिस्ते में एक अंडे जितना प्रोटीन होता है। यह शाकाहारी लोगों और प्रोटीन के पादप-आधारित स्रोत तलाशने वालों के लिये अच्छी खबर है। आमतौर पर खाये जाने वाले सभी मेवों की तुलना में पिस्ते का कैलोरीफिक वैल्यू सबसे कम में से एक होता है और आप एक बार में 49 पिस्ते खा सकते हैं। इस प्रकार यह भारतीयों के लिये परफेक्ट हैं।

पिस्ते में निहित स्वास्थ्य लाभों को दोहराते हुए डॉ. माइक रोउसेल ने कहा कि इंटरनेशनल फूड इंफॉर्मेशन काउंसिल के ईयर-एंड सर्वे के अनुसार, तीन में से एक व्यक्ति ने बताया है कि बीते एक साल में उसकी खाने से सम्बंधित आदतें स्वास्थ्यकर हुई हैं। जवाब देने वाले 22 प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने बताया कि उनकी पसंद उनके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को प्रभावित करती हैं। इसलिये, डाइट में पिस्ते जैसे पोषक खाद्यों को शामिल करने से आपके शरीर को ज्यादा वाइटल विटामिन्स और खनिज मिल सकते हैं, ताकि आपका इम्यूपन सिस्टम अपना सर्वश्रेष्ठ काम करे। स्वस्थ इम्यूसन सिस्टम हीलिंग प्रोसेस में सहायता करता है और रिकवरी टाइम को कम करता है। मैं एक सुविधाजनक स्नैक के तौर पर अपने ग्राहकों के लिये पिस्ते की अनुशंसा करता हूँ, जिसे कसरत करने के बाद खाया जा सकता है या जब भी आपको त्वरित पोषक आहार की जरूरत हो, ताकि अगला भोजन मिलने तक आपका काम चल सके। लेकिन उनके द्वारा इस साल पिस्ते की अनुशंसा किये जाने का कारण उसमें मौजूद प्रमुख पोषक-तत्वों का खजाना है, जो अपना सर्वश्रेष्ठ काम करने में इम्युन सिस्टम की मदद करता है ।

चर्चा का संचालन करते हुए सुमिन सरन ने कहा कि अमेरिका में उगे पिस्ते के लिये भारत वृद्धि का बाजार है। भारत में पिस्ता नहीं होता है। हालांकि पिस्ते और उससे मिलने वाले स्वास्थ्य लाभों पर जागरूकता बढ़ने के साथ हम मांग में लगातार बढ़त देख रहे हैं। हम भारत में अमेरिका पिस्ताचियो ग्रोअर्स के लिये लाइफस्टाइल एम्बेसेडर के रूप में ल्युक कोउटिन्हो को पाकर प्रसन्न और सम्मानित हुए हैं। वे स्वास्थ्य, पोषण और तंदुरूस्ती के एक महान आइकॉन हैं। उनकी मदद से हम समझदार उपभोक्ताओं के बीच अमेरिका में उगे पिस्ते पर जागरूकता निर्मित करेंगे। अमेरिका में उगने वाला पिस्ता भारत के सभी प्रमुख रिटेल पॉइंट्स और ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म्सट पर गुणवत्तापूर्ण ब्राण्ड नेम्स के अंतर्गत उपलब्ध है।

BJP Aims to Benefit Capitalist Friends, So Laws Not Being Repealed: Selja

By 121 News

Chandigarh Jan. 23, 2021:- Haryana Pradesh Congress Committee, President, Kumari Selja said that the BJP-JJP government of the state has lost the trust of the people. This government has failed on every front. This is the reason that the ministers of the government are facing public opposition and finding it difficult to attend events organized on Republic Day. The government is scared. Today, the ministers of the government are not daring to go before the people. She added that the entire nation celebrates Republic Day with joy. The farmers want to celebrate the Republic Day by taking out the tractor march, it is the right of the farmers and we hope that the government will cooperate in this.

Kumari Selja was interacting with media persons at Hisar & Bhiwani. She arrived at Camp Chowk in Hisar to offer tributes to Subhash Chandra Bose on the occasion of his birth anniversary. Later, she reached Ramayan Toll Plaza of Hisar and Kitlana toll plaza of Bhiwani to support the farmers agitating against the anti-agriculture black laws.

She said that at the time of independence, we fought against external powers and today, farmers have waged a new movement. The BJP government has got this movement started. The farmers and laborers are forced to sit on the streets in this fierce cold for their rights. The BJP government does not want to repeal anti-agriculture black laws because it benefits few capitalist friends of the government. The BJP government does not see anything ahead of the interests of the capitalists. She said that it is very sad that the farmers of the country have to fight for their interests by taking to the streets. In this struggle of the farmers, the Congress party has stood firmly with them.

Kumari Selja said that this struggle against the anti-agriculture black laws is not just the struggle of the farmers, but this is the struggle of entire India because the entire economy is dependent on the agricultural sector. If the farmers and laborers will be ruined, some of the capitalists will not able to support the country. Only the farmers and laborers of the country can support, but the BJP government has forgotten this fact in their arrogance.

Kumari Selja said that the government was only pretending in the name of negotiation. The intention of the BJP government has not been clear since the beginning. More than 70 farmers have sacrificed themselves in this severe cold, but it had no effect on the government. This sacrifice of farmers will not go in vain. The government will have to accept the demands of the farmers.

On this occasion, Ex Mla Ranbir Singh Mahendra, Ex Mla Nripendra Sangwan, Haryana Congress General Secretary Dr. Ajay Chaudhary, Haryana Congress Chief Spokesperson Bajrang Garg, HPSC former Member Jagannath, Haryana Congress Legal Cell Department State Chairman Lal Bahadur Khowal, Bhupendra Gangwa, Ramniwas Rada, Om Prakash Panghal, Bala Devi besides other leaders and party workers were also present.

Friday, 22 January 2021

गलत रत्न धारण करने से आप हो सकते है तबाह एवं बर्बाद: ज्योतिषचार्य विष्णु शर्मा

By 121 News

Chandigarh Jan. 22, 2021:- रत्न धारण करने से जहां हमें सुख, समृद्धि एवं वैभव की प्राप्ती होती है वहीं गलत रत्न पहनने से यह हमें तबाह एवं बर्बाद भी कर सकता है। इसलिए हमें रत्नों को धारण करते हुए विशेष सावधानियां वर्तनी चाहिए।

सेक्टर 45 स्थित ज्योतिष सेंटर के ज्योतिषचार्य विष्णु शर्मा का मानना है कि जिस व्यक्ति की ज्योतिषों द्वारा पुखराज (टोपाज़) पहने की सलाह दी जाती है उन्हें पुखराज खरीदते समय सावधानी वर्तनी चाहिए, क्योंकि ज्यादातर दुकानदार पुखराज के नाम पर ग्राहकों को पीला नीलम (येलो सफायर) प्राच्य पुखराज, धुमेरा स्फटिक, साइट्रीन अथवा स्फटिक, स्कॉय पुखराज आदि के नामों से बेचते हैं, परन्तु वस्तुत: यह पुखराज नही है। क्योंकि शुद्ध पुखराज हल्का पीला, रंगहीन या सफेद होता है, इसलिए पुखराज की पूर्णतया जांच करवाकर ही खरीदना पहनना चाहिए नही तो विपरीत परिणाम से भुगतने पड़ सकते हैं।

ज्योतिषचार्य विष्णु शर्मा शहर के जाने माने ज्योतिषचार्य हैं। उन्हें ज्योतिष एवं रत्नों का लंबे वर्षों का अनुभव एवं ज्ञान है उन्हें कई प्रतिष्ठित अवार्ड प्रमाण पत्रों से सम्मानित हो चुके है। उन्हें कई बार गोल्ड मेडल देश की विभिन्न प्रतिष्ठित संस्थाओं द्वारा दिए गये हैं। वे सामाजिक कल्याणकारी कार्यो में भी संलिप्त रहते हैं और जरूरतमंद की नि:शुल्क ज्योतिष सेवा उन्हें समाधान बताते हैं।

ज्योतिषचार्य विष्णु शर्मा ने बताया कि पुखराज का रंग अधिक पीला नही होता है वह हल्का पीला, रंगहीन या सफेद होता है जबकि येलो सेफायर का रंग गहरा पीला भी होता है तथा यह पीला होकर भी नीलम ही कहलाता है और जिसे पुखराज पहनना है उन्हें नीलम के परिणाम देगा, नीलम हर किसी को नही फलता है बल्कि घातक परिणाम भी दे देता है उन्हें यह रास नही आता। अत: गलत रत्न पहनने से बचना चाहिए इसकी लेब रिपोर्ट के साथ ही खरीदे या इस रत्न की प्रयोगशाला में जांच कराकर फिर ही पहने, पुखराज को अंग्रेज में नैचुरल टोपाज भी कहते हैं। येलो सेफायर पीला नीलम होता है। गुरू का रत्न सिर्फ पुखराज यानि नैचुरल टोपाज होता है येलो सेफायर नही।

ज्योतिषचार्य विष्णु शर्मा ने बताया कि ज्योतिष के अनुसार 9 ग्रह हैं, और सभी 9 ग्रहों के 9 रत्न हैं। सूर्य का माणिक, चंद्र का मोती, मंगल का मूँगा, गुरु का पुखराज, बुद्ध का पन्ना, शुक्र का हीरा, शनि का नीलम, राहू का गोमेद, और केतु का लेहसूनिया। आजकल लोगों में पुखराज पहनने का काफी चलन देखने को मिला रहा है। बृहस्पति गृह सारे देव ग्रहों के गुरु है। और इनका शुभ रत्न पुखराज है। जिन लोगों की कुंडली मे गुरु शुभ है। उनको शुद्ध पुखराज पहनने से काफी लाभ होता है। गुरु संतान का कारक है। विद्या का कारक है और धन का कारक है।