Tuesday, 20 October 2020

पानी के बढे हुए रेट्स के खिलाफ कांग्रेस ने किया प्रदर्शन-नगर निगम गेट पर जड़ा ताला

By 121 News

Chandigarh Oct. 20, 2020:-- चंडीगढ़ कांग्रेस द्वारा पानी के रेट्स की तीन गुना बढ़ोतरी के खिलाफ नगर निगम ऑफिस के बाहर आज धरना दिया ओर काले झंडे लेकर नगर निगम ऑफिस की ओर कूच किया। सांसद किरण खेर,मेयर राजबाला मलिक, बीजेपी के पार्षदों के खिलाफ जमकर नारेबाजी हुई इसी दौरान नगरनिगम के गेट पर ताला जड़ दिया। जिस पर कांग्रेस के नेताओं कार्यकर्ताओं के साथ पुलिस की झड़प धक्कामुक्की हुई।

धरने पर पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन कुमार बंसल ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि पानी के रेट बढ़ाने का फैसला जनता के खिलाफ है, कांग्रेस पार्टी इसका जमकर विरोध करती है। नगर निगम की वित्तीय हालत बदत्तर होने के लिए भाजपा ही जिम्मेवार है। सवाल ये है कि क्यों नहीं दिल्ली फाइनेंस कमीशन की ओर से नगर निगम को ग्रांट मिल रही। पहले भी अब भी फिजिकल सदन की बैठक बुलाई जानी चाहिए थी, लेकिन अपनी जिम्मेदारी जवाबदेही से भागने के लिए हर महीने वर्चुअल बैठक बुलाई जा रही है। भाजपा लोकतंत्र व्यवस्था को खत्म कर रही है कांग्रेस पार्टी सड़क पर कांग्रेस के पार्षद सदन में पूरा विरोध करेंगे।

अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा ने कहा कि पहले ही लगातार टैक्सों का बोझ झेल रही चंडीगढ़ की जनता के ऊपर तीन गुना पानी के रेट्स में बढोत्तरी बहुत बड़ी नाइंसाफी है, जहां नगर के वित्तिय हालात बद से बदतर हो चुके है, लगातार जनविरोधी फैसले टैक्सों की मार, भ्र्ष्टाचार अनेकों कारण है जिस कारण नगर निगम को भंग कर देना चाहिए। हालात नगर निगम में ताला लगाने वाले है जो हमने ताला लगाया है। आगे छाबड़ा ने कहा कि कांग्रेस का पार्षदों ने सड़क सदन में अपना विरोध दर्ज करा दिया है। आज बीजेपी के पार्षदों ने सदन में मीटिंग में शामिल ना होने को नोटंकी करार करते हुए कहा कि जो पार्षद इस पानी बढ़ोतरी में शामिल थे अब जब कांग्रेस के लगातार विरोध का नतीजा ये हुआ कि मीटिंग में ना जाने का ढोंग करके जवाबदेही से भागने लगे। आगे कहा कि जब तक बीजेपी तीन गुना पानी के दामों के रेट्स का फैसला वापिस नही लेती कांग्रेस एक भी कदम पीछे हटने वाली नही है। सेक्टरों, कालोनियों गांवों में कांग्रेस इन मुद्दों तक पहुंचाएगी।

आज धरने में पवन शर्मा, हरफूल चन्द्र कल्याण, दविंदर सिंह बबला, शिलाफुल सिंह, सतीश केन्थ, गुरबख्श रावत, रुपिंदर गुजराल, हरमोहिंदर सिंह लक्कीसंदीप भारद्वाज, गुरचरण दास काला, अजय जोशी, गुरप्रीत सिंह गाबी, मोहम्मद सादिक, जतिंदर भाटिया, शशिशंकर तिवारी, हरमेल केसरी,दीपा दुबे, उनवाहर उल हक, यादविंदर मेहता, अजय शर्मा, जगजीत सिंह कंग, धर्मवीर, मंजीत चौहान, राजीव मौदगिल, जागीर सिंह, जीत सिंह,रवि ठाकुर, नरिंदर सिंह, अमन सिंह, सुरजीत ढिल्लों, परमजीत सिंह, संजीव गाबा, धर्मवीर सिसोदिया, हरनेक सेखों, बिरिन्दर रावत, राकेश बरोटिया नेता शामिल थे।

No comments:

Post a comment