Tuesday, 27 October 2020

सहीराम जौहर की 12वीं पुण्यतिथि पर आयोजित

चंडीगढ़,सभी समानता(हरजिंदर चौहान)--- मध्यप्रदेश में भोपाल स्थित माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय की तर्ज पर हरियाणा में भी पंचकूला या हिसार शहर में एक मिडिया यूनिर्वसिटी खोले जाने की अत्यन्त आवश्यकता है, ताकि पत्रकारिता क्षेत्र में अपना कैरियर बनाने वाले इच्छुक युवाओं को एक सुनहरा अवसर प्राप्त हो सके। आज पिंरट मिडिया और इलेक्ट्रानिक्स मीडिया में पत्रकारिता के युवा एवं ऊर्जावान छात्रों की बहुत मांग है। 

उपरोक्त विचार आज यहाँ संयुक्त पंजाब में सन् 1942 से हिसार शहर से रचनात्मक पत्रकारिता करने वाले कर्मयोगी स्वगीय सहीराम जौहर की 12वीं पुण्यतिथि पर आयोजित स्मृति सभा में, गांधी स्मारक भवन के निदेशक डा. देवराज त्यागी ने व्यक्त किये। अपने अध्यक्षीय भाषण में डा. त्यागी ने हरियाणा के गांधी दादा गणेशी लाल के अभिन्न मित्र कामरेड सहीराम जौहर को पत्रकारिता का पितामह बताते हुए कहा कि कामरेड जौहर ने सन् 1942 से 27 अक्टूबर 2008 तक, अपनी अन्तिम सांस तक निरन्तर 66 वर्षों तक हिसार में समाज पत्रकारिता की और एक समाज सुधारक के रूप में भी दादा गणेशी लाल जी के साथ मिलकर गाँव-गांव में नशे के खिलाफ लोगों को जागृत किया। कामरेड जौहर ने भूदान आन्दोलन में बढ़-चढ़ कर भाग लिया। कामरेड जौहर ने सन् 1942 में गाँव सातरोड़ (हिसार) के प्रसिद्ध स्वत्रंतता सेनानी एवं गोभक्त लाला हरदेव सहाय के अखबार ग्राम सेवक से पत्रकारिता आरम्भ की। जिनके पास गाँव सातरोड़ में सन् 1938 में सुभाष चन्द्र बोस, सन् 1946 में पं. जवाहर लाल नेहरू के अतिरिक्त बड़े-बडे़ स्वत्रंता सेनानी एवं देश भक्तों का आना जाना रहता था। इस अवसर पर डा. एस.एम. नहरा ने कामरेड जौहर को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि देश की आज़ादी के बाद फरवरी 1949 में कामरेड सहीराम जौहर ने हिसार शहर स्थित नागोरी गेट के अन्दर नवजीवन प्रिटिंगप्रेस की स्थापना की और जून 1950 में वे हिन्दी मासिक प्रत्रिका अमरज्योति के संस्थापक सम्पादक बने। यह पत्रिका गत 70 वर्षों से हिसार शहर से निरन्तर प्रकाशित हो रही है।

अप्रैल 1973 में कामरेड जौहर ने हिन्दी साप्ताहिक समाचार पत्र हरियाणा-संघ का प्रकाशन आरम्भ किया जो आज भी जारी है। कामरेड जौहर एक ईमानदार पत्रकार, मजदूर एवं गरीब वर्ग के हितैषी तथा हिन्दी भाषा के प्रबल समर्थक के रूप में सारे हिसार इलाके में प्रसिद्ध रहें।

इस अवसर पर कामरेड सहीराम जौहर के ज्येष्ठ पुत्र एवं पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट के एडवोकेट अरूण जौहर ने अपने स्वर्गीय पिताश्री के संस्मारण श्रोताओं सें साझे किये।

स्मृति सभा में डा. एस.एम. नहरा, डा. रमेश शर्मा, चन्द्रपाल त्यागी, आनन्द राव, पापिया चक्रवर्ती, गुरप्रीत कौर, अमित कुमार एवं विजय कुमार उपस्थिति उल्लेखनीय है।

No comments:

Post a comment