Monday, 16 November 2020

प्रशासन ने बोनस की मांग पर की अस्पताल प्रशासन से मीटिंग:. मीटिंग रही बेनतीजा,नही लिया गया कोई भी फैसला

By 121 News
Chandigarh Nov. 16, 2020:-शहर के सेक्टर-32 के जी.एम.सी.एच में आज चौथे दिन भी अस्पताल में आऊटसोरसिंग पर काम करने वाले सफाई व अन्य कर्मचारियों की ओर से बोनस न दिए जाने पर विरोध प्रदर्शन जारी रहा। शुक्रवार को सफाई कर्मचारियों की ओर से कहा गया था कि सोमवार तक अस्पताल में आने वाले मरीजों व उनके परिजनों को किसी तरह की कोई परेशानी न हो, इसलिए वे काम बंद नहीं कर रहे हैं। केवल अपना विरोध दर्ज कर रहे हैं। ताकि प्रशासन तक उनकी आवाज पहुंच सके।
उन्होंने कहा कि हर साल बोनस मिलने को लेकर परेशानी आती है। अस्पताल प्रशासन की तरफ से आश्वासन दिया गया था कि चंडीगढ़ प्रशासन से मीटिंग कर सोमवार को कोई फैसला लिया जाएगा, पर आज प्रशासन द्वारा कोई फैसला न लेने कारण  अस्पताल के सफाई कर्मचारियों और सिक्योरिटी स्टाफ की ओर से विरोध-प्रदर्शन किया गया।
       सफाई कर्मचारी यूनियन की सलाहकार समिति व ऑल कर्मचारी कांट्रेक्ट संघ ,यू.टी चंडीगढ़ से तरनदीप सिंह  ग्रेवाल और  बिपिन शेर सिंह ने कहा कि अस्पताल प्रशासन की ओर से उन्हें अभी तक मीटिंग में लिए गए फैसले की कोई  सूचना  नहीं दी गई है । 

सफाई कर्मचारी यूनियन के चेयरमैन ओम कैलाश व प्रधान प्रेम पाल ने कहा कि अगर उन्हें बाेनस नहीं दिया गया तो संघर्ष और तेज किया जाएगा‌
धरना प्रदर्शन को तरनदीप सिंह ग्रेवाल, बिपिन शेर सिंह, अशोक कुमार, गुरचरण सिंह, ओम कैलाश, प्रेम पाल, सुखबीर सिंह, धर्मपाल ,करिषण कुमार, भरत कुमार आदि ने संबोधित किया ।

अपने संबोधन में सफाई कर्मचारी यूनियन व आल ‌‌कांटरैकचुअल कर्मचारी संघ के नेताओं ने कहा कि उनका धरना प्रदर्शन पांचवें दिन भी जारी रहेगा।

वहीं सफाई कर्मियों द्वारा प्रदर्शन में शामिल होने से अस्पताल में भी सफाई का काम बंद रहा, जिससे वहां अव्यवस्था का आलम देखनो को मिला।इसके अलावा ज्वाइंट एक्शन कमेटी ने समर्थन देते हुए काम बंद का नोटिस दे दिया है।

 समर्थन में उतरे एससी मोर्चा के प्रधान कृष्ण व पार्षद भरत कुमार ने कहा कि यह संघर्ष जब तक जारी रहेगा जब तक इनको बोनस नहीं मिल जाता।

सफाई कर्मचारी यूनियन व आल कांटरैकचुअल कर्मचारी संघ ने एलान किया कि ज्वाइंट एक्शन कमेटी के काम बंद के नोटिस के बाद भी अगर अस्पताल प्रशासन कोई फैसला नहीं लेता तो मजबूरन गवर्नर हाउस की तरफ कूच किया जाएगा।

No comments:

Post a comment