Wednesday, 6 February 2019

खरड़ की महिला ने पुलिस पर अपहरणकर्ता को छोड़ने के लगाए आरोप: पुलिस आलाधिकारी भी मामले का नही ले रहे संज्ञान

By 121 News

Chandigarh 06th Feb, 2019:- खरड़ में निजी अस्पताल चला रही महिला सरबजीत कौर ने खरड़ पुलिस पर उनके अपहरण की कोशिश करने वाले आरोपी को पकड़े जाने के बाद भी छोड़ने के गंभीर आरोप लगाए है। उन्होंने ये भी आरोप लगाए की इस बाबत पुलिस के आलाधिकारियों को शिकायत दिए जाने के बाद भी कोई कार्यवाही नही हुई, बल्कि उल्टा उन्हें ही डरा धमका कर थाने से भगा दिया गया।

चंडीगढ़ प्रेस क्लब में पत्रकारों से बातचीत करते हुए सरबजीत कौर ने बताया कि खरड़ बस स्टैंड के नजदीक वर्ष 2015 से एस के हॉस्पिटल के नाम से अस्पताल चला रही है।ये बिल्डिंग उन्होंने परवीन कुमार नामक बिल्डर से किराये पर ली थी।इस बिल्डिंग में अस्पताल बनाने में उनके करोडों रुपये खर्च हुए। अस्पताल शुरू करने के करीब 6 महीने बाद ही परवीन कुमार ने उन्हें तंग करना शुरू कर दिया कि या तो रेंट बढाओ या फिर बिल्डिंग खाली कर दो।उसकी बात मानने पर उन्हें झूठे मामले में फंसाने की धमकी दी।बल्कि उन पर पी एन डी टी चेक बाउंस जैसे झूठे मामलो में फंसा भी दिया।  इसके अलावा फ़र्ज़ी लोगों द्वारा भी अलग अलग जगहों से शिकायत दिलवा दी। लेकिन जांच पड़ताल के दौरान ये सारे मामले झूठे और बेबुनियाद साबित हुए। लेकिन मामला कोर्ट में लंबित होने के बाबजूद भी ये लोग उन्हें तंग परेशान करते रहे। हाल ही में 03 फरवरी, 2019 को एक व्यक्ति उनका पीछा करते हुए हॉस्पिटल से घर तक आया। वो पिछले कई दिन से उनकी रेकी कर रहा था।पुलिस ने उनकी शिकायत पर उस व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया। बुद्ध सिंह नामक इस व्यक्ति ने जांच अधिकारी एस आई अवतार सिंह ने कबूला की वो किसके कहने पर पीछा कर रहा था। इसके बाबजूद उन्होंने बुद्ध सिंह पर मामला दर्ज करने के उसे छोड़ दिया। जब इस बारे में उन्होने थाना खरड़  एस एच भगवंत सिंह रियाड़ को शिकायत दी, तो उल्टा उनकी बात सुनने के एस एच ने उन्हें डराना धमकाना शुरू कर दिया और थाने से बाहर निकल जाने को कहा। इससे आहत होकर उन्होंने जिला मोहाली के एस एस पी कार्यालय में शिकायत दी कि उनके साथ किस प्रकार धक्का हुआ है। लेकिन अभी तक भी उनकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नही हुई।

सरबजीत कौर ने आगे कहा कि बिल्डर परवीन कुमार के बड़े बड़े राजनैतिक लोगों से संबंध होने के चलते वो पुलिस पर दबाब डाल कर उन्हें तंग परेशान करने पर आमादा है।बल्कि उनकी शिकयत पर कोई कार्यवाही नही हुई। उन्होंने मांग की कि एक महिला के साथ हो रहे इस तरह के धक्के की गंभीरता को देखते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

वही जब इस बारे में बिल्डर परवीन कुमार से बात की गयी तो उन्होंने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को बेबुनियाद और निराधार बताया और कहा कि मामला कोर्ट में विचाराधीन है तो वो कैसे इस मांमले में हस्तक्षेप कर सकते है। बल्कि सरबजीत कौर बिना वजह ही उन्हें बदनाम कर रही है

जांच अधिकारी अवतार सिंह से सरबजीत कौर द्वारा शकी व्यक्ति के खिलाफ अपहरण के प्रयास की  दी गयी शिकायत के बाबजूद बुद्ध सिंह को छोड़ देने की बात पूछी गयी तो उन्होंने कहा कि उन्हें इस बाबत कुछ भी संदिग्ध नहीं दिखा, इस लिए उन्होंने पूरी जांच पड़ताल कर उसका व्यक्ति को छोड़ दिया।

No comments:

Post a comment