Friday, 20 November 2020

कम वेतन पाने वाले सफाई श्रमिक की मौत .... यूनियन ने ठहराया जी.एम.सी.एच -32 अस्पताल प्रशासन, ठेकेदार व सुपरवाइजर को जिम्मेदार

By 121 News

Chandigarh Nov. 20, 2020:- जी.एम.सी.एच -32 अस्पताल के एक सफाई कर्मी की आज मौत होने से सफाई कर्मचारियों में भारी रोष देखने को मिला।  सफाई कर्मचारी यूनियन सैक्टर 32 ने सफाई कर्मी की मौत के मामले में अस्पताल प्रशासन, ठेकेदार व सुपरवाइजर के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है । यूनियन का आरोप है कि रतन कुमार, जनरल सचिव जिनका आज दिल का दौरा पड़ने के कारण उच्च मानसिक दबाव के कारण मौत हुई, अस्पताल प्रबंधन उसको भूख-हड़ताल स्थगित करने पर भी उस ड्यूटी पर लेने में आना कानी कर रहा था जिस ड्यूटी पर वो थे।

सलाहकार समिति से तरनदीप सिंह ग्रेवाल, बिपिन शेर सिंह, अशोक कुमार, गुरचरण सिंह, ओम कैलाश, प्रेम पाल, बबलू बिड़ला व धर्मपाल ने सख्त कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि आश्वासन के बाद भी मानसिक प्रताड़ना देने के लिए जिम्मेदार अगर अस्पताल प्रशासन, ठेकेदार व सुपरवाइजर पर एफ आई आर दर्ज न हुई और न्याय नहीं मिला जिसमें मृतक कर्मचारी के सदस्य को नौकरी, निकाले गए कर्मचारियों को नौकरी वापिस व बोनस की मांग पर उचित कार्रवाई आदि न हुई तो सफाई कर्मचारी यूनियन सैक्टर 32 दोबारा 27 तारीख से भूख-हड़ताल पर जाने के लिए मजबूर हो जाएगी।  रतन कुमार ,जनरल सचिव की मौत जी.एम.सी एच सफाई कर्मचारी के संघर्ष में अब क्रांति लाएंगे जिन्होंने अपने सहकर्मी के अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ी।

उनकी मौत सामान्य नहीं है, लेकिन एक हत्या और जीएमसीएच कर्मचारी संघ प्रबंधन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगा क्योंकि बोनस और अन्य मुद्दों को हल करने की उम्मीद के साथ कल अपील करने के बाद उन्हें धोखा दिया गया था।

No comments:

Post a comment